अक्टूबर तक बनकर तैयार हो जाएगा भारत का सबसे बड़ा हॉकी स्टेडियम, खिलाड़ियों को मिलेगी ये सुविधाएं

अक्टूबर तक बनकर तैयार हो जाएगा भारत का सबसे बड़ा हॉकी स्टेडियम, खिलाड़ियों को मिलेगी ये सुविधाएं

Sports

Biggest Hockey Stadium in India: हॉकी विश्व कप 2018 की सफल आयोजन के बाद ओडिशा एक बार फिर से हॉकी विश्व कप 2023 की मेजबानी करने के लिए तैयार है. ये वर्ल्ड कप  भुवनेश्वर और राउरकेला में खेला जाएगा. जहां  भुवनेश्वर में मौजूदा कलिंग हॉकी स्टेडियम में 15,000 लोग बैठ सकते हैं. वहीं, राउरकेला में नया बिरसा मुंडा अंतर्राष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम में 20,000 लोगों के बैठने की व्यवस्था होगी. ये भारत के सबसे बड़ा हॉकी स्टेडियम होगा. अंतर्राष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम बना रहा है जिसमें 20,000 लोगों के बैठने की व्यवस्था होगी जिसे भारत का सबसे बड़ा हॉकी स्टेडियम का दर्जा प्राप्त होगा.

अक्टूबर तक काम हो जाएगा पूरा

इस को लेकर राज्य सरकार के एक अधिकारी ने कहा कि बिरसा मुंडा स्टेडियम का निर्माण कार्य अभी भी जारी है और इसे इस साल अक्टूबर तक पूरा कर लिया जाएगा. अधिकारी ने कहा, “इसके बाद एफआईएच (अंतर्राष्ट्रीय हॉकी महासंघ) के अधिकारी यहां निरीक्षण के लिए आएंगे और फिर विश्व कप से पहले इसे मंजूरी देने के लिए एक परीक्षण कार्यक्रम होगा.” स्वतंत्रता सेनानी ‘बिरसा मुंडा’ के नाम पर रखा गया यह स्टेडियम सभी आधुनिक सुविधाओं के साथ हॉकी विश्व कप की मेजबानी के लिए तैयार किया गया है बयान में कहा, “स्टेडियम राउरकेला में बीजू पटनायक प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के परिसर में 20 एकड़ भूमि में फैला हुआ है. यह हॉकी के लिए वैश्विक स्टेडियम डिजाइन में एक नया मानदंड स्थापित करेगा.”

मिलेंगी सारी सुविधाएं 

अधिकारी ने कहा, “यह 200 करोड़ रुपये की लागत के साथ इस स्टेडियम में अत्याधुनिक सुविधाओं, चेंजिंग रूम, एक फिटनेस सेंटर और एक हाइड्रो-थेरेपी पूल के साथ अभ्यास मैदान होगा. इसमें एक अलग आवास सुविधा होगी, जिससे 100 करोड़ रुपये की अतिरिक्त लागत से बनाया जा रहा है. यह सुविधा मैच के दौरान खिलाड़ियों, कर्मचारियों और अधिकारियों के लिए होगी.”

हॉकी के लिए माना जाता है सुंदरगढ़ जिला

सुंदरगढ़ जिले को हॉकी के लिए माना जाता है और जिले में राउरकेला शहर ने विशेष रूप से दिलीप टिर्की, लाजर बारला सहित कई अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ियों को जन्म दिया है. राउरकेला का यह स्टेडियम सुंदरगढ़ जिले के लिए शान माना जाएगा, जो बहुत कम उम्र से हॉकी खिलाड़ियों को तैयार करने में मदद करेगा. भुवनेश्वर के कलिंग स्टेडियम की तरह, बिरसा मुंडा अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम इस जगह के हॉकी के बुनियादी ढांचे को बढ़ावा देगा, जिससे हॉकी चैंपियन बनाने का मार्ग प्रशस्त होगा. इस स्टेडियम की नींव फरवरी 2021 में मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने रखी थी और तब से कोविड, चक्रवात और भीषण गर्मी की चुनौतियों के बावजूद काम पूरी गति से चल रहा है और समय पर तैयार हो जाएगा.

यह भी पढ़ें : IPL 2022: केएल राहुल के नाम दर्ज हुई एक खास उपलब्धि, जानें कैसे बने आईपीएल के सफल कप्तान

DC vs RR: नो-बॉल को लेकर फिर अंपायर से भिड़े ऋषभ पंत, कटेगी फीस! देखें वीडियो

https://www.abplive.com/sports/ipl/india-s-largest-hockey-stadium-to-host-the-world-cup-will-be-ready-in-odisha-by-october-2120780

Leave a Reply

Your email address will not be published.