बैंकों को लगाया 1146 करोड़ रुपए का चूना, अब ईडी ने सीबे इंटरनेशनल के पार्टनर को किया गिरफ्तार

बैंकों को लगाया 1146 करोड़ रुपए का चूना, अब ईडी ने सीबे इंटरनेशनल के पार्टनर को किया गिरफ्तार

National

ED Registered Case On Seabe International: फर्जी दस्तावेजों के आधार पर बैंकों को 1146 करोड़ रुपए का चूना लगाने के आरोप में प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने मैसर्स सीबे इंटरनेशनल के पार्टनर दीपक नैयर को मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत गिरफ्तार किया है. गिरफ्तारी के बाद उसे ईडी की विशेष अदालत के सामने पेश किया गया जहां से उसे पूछताछ के लिए 20 मई तक ईडी हिरासत में भेज दिया गया है.

ईडी के एक आला अधिकारी ने बताया यह मामला भारतीय स्टेट बैंक और मुंबई में स्टेट बैंक ऑफ मॉरीशस की कुछ बैंक शाखाओं के जरिए जाली एयरवे बिल बनाकर 1146 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी का है. इस मामले में आरोप है कि फ्रेट फॉरवर्डिंग सर्विसेज की आड़ में प्रतिष्ठित कंपनियों और क्लाउड सीसीटीवी स्टोरेज रेंटल सेवाओं के आयात की आड़ में इस कंपनी और दीपक नैय्यर ने फर्जी चालान बनाए.

क्या हैं आरोप ?
इन चैनलों के जरिए जाली एयरवे बिल बना कर 1146 करोड़ रुपए हांगकांग भेज दिए गए. इस मामले में फंड ट्रेल जांच के दौरान ईडी को पता चला कि माल ढुलाई सेवाओं की आड़ में दीपक नैयर और उसके सहयोगियों ने फर्जी दस्तावेज बनाए हैं. साथ ही कई शैल कंपनियों के बैंक खातों में भी भारत से हांगकांग पैसे भेजे गए.

ईडी की आरंभिक जांच के बाद इस मामले में हैदराबाद पुलिस ने 9 सितंबर 2021 को विभिन्न आपराधिक धाराओं के तहत एक मुकदमा दर्ज किया जिसके बाद प्रवर्तन निदेशालय ने इस मामले में मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट का मामला दर्ज कर जांच शुरू की. प्रवर्तन निदेशालय ने संदिग्ध बैंक खातों की फंड ट्रेल जांच और जीएसटी रिटर्न के विश्लेषण के आधार पर दीपक नैय्यर का पता लगाया.

कहां है शेल कंपनियों के मालिक ? 
यह भी पता चला कि दीपक शेल कंपनियां चलाने वाला एंट्री ऑपरेटर था. इन शेल कंपनियों को आंशिक रूप से चीनी कंपनियों से तथा अन्य संदिग्ध कंपनियों से पैसा मिला था. इस मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने मैसर्स एचकेआर एसोसिएट्स के सीए रवि कुमार को 27 दिसंबर 2021 को गिरफ्तार किया था. 

अब तक की जांच के दौरान इस मामले का संदिग्ध मास्टरमाइंड और मुखौटा कंपनियों के मालिकान फरार बताए गए हैं. सूचना के आधार पर दीपक नैय्यर को ईडी ने गिरफ्तार कर लिया और हैदराबाद में ईडी की विशेष अदालत के सामने पेश किया. जहां से उसे पूछताछ के लिए ईडी रिमांड पर भेज दिया गया है मामले की जांच जारी है.

India Digital Census: कोरोना की लहर कम होते ही देश में शुरू होगी डिजिटल जनगणना, अमित शाह ने बताया कब तक पूरा होगा काम

India Nepal Relation: चीन के अरबों डॉलर लुंबिनी प्रोजेक्ट की काट तलाशेगा पीएम मोदी का नेपाल दौरा ?

https://www.abplive.com/news/india/banks-were-defrauded-of-rs-1146-crore-now-ed-has-arrested-the-partner-of-seabay-international-ann-2119976

Leave a Reply

Your email address will not be published.